Home
Love
Sad
More ≡

Mohabbat Shayari Shayari

नज़रे करम

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,


मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

एक पल

एक पल के लिए जब तू पास आता है,
मेरा हर लम्हा ख़ास बन जाता है,

सँवरने सी लगती है ये ज़िन्दगी अपनी,
जब भी तू मेरी बाहों में मुस्कुराता है।

Ye Kehna

Ye Kehna Tha Un Se Mohabbat Hai Mujhko,
Ye Kehne Mein Mujh Ko Zamaane Lage Hain …

नज़रे

“नज़रे करम” मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

Find here top Mohabbat Shayari Shayari in Hindi, new Mohabbat Shayari Shayari of 2019, best shayari in Hindi and English.